जम्मू-कश्मीर: शोपियां के बाद अब कुलगाम में सेना के खिलाफ FIR

Spread the love for our web

श्रीनगर
पाकिस्तान की तरफ से जारी लगातार गोलाबारी के कारण बढ़े तनाव के बीच जम्मू-कश्मीर में सेना के खिलाफ एक और एफआईआर दर्ज हुई है। शोपियां के बाद अब कुलगाम में सेना की 10वीं गढ़वाल यूनिट के खिलाफ यह एफआईआर दर्ज हुई है। सेना की ओपन फायरिंग में 22 साल के एक युवक के घायल होने के मामले में यह एफआईआर हुई है। बता दें कि पिछले एक सप्ताह में सेना के खिलाफ एफआईआर का यह दूसरा मामला है। उधर, इस मामले में सेना का कहना है कि जवानों ने आत्मरक्षा में फायरिंग की थी।

बीते दो दिनों से सीमा पर तनाव जारी है। पाकिस्तान की तरफ से लगातार भारी गोलाबारी की जा रही है। इस गोलाबारी में 4 जवान शहीद हो चुके हैं। इस बीच जम्मू- कश्मीर में सेना पर एक और एफआईआर हुई है। हमारे सहयोगी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ के मुताबिक इस बार एफआईआर कुलगाम में सेना की 10वीं गढ़वाल यूनिट के खिलाफ की गई है।इससे पहले शोपियां में 10 गढ़वाल राइफल के सैनिकों के खिलाफ जम्मू-कश्मीर पुलिस की तरफ से एफआईआर दर्ज की गई थी। पुलिस ने जवानों के खिलाफ हत्या (302) और हत्या की कोशिश (307) का केस दर्ज किया था। दरअसल, 27 जनवरी को सेना का काफिला शोपियां के गनोवपोरा गांव से गुजर रहा था जब उनपर पत्थर फेंके गए। इस दौरान जवाबी फायरिंग में 3 लोगों की मौत हो गई थी। इसी मामले में पुलिस ने सेना के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। हालांकि इस मामले में बाद में सेना ने भी पत्थरबाजों के खिलाफ काउंटर एफआईआर दर्ज कराई।

FIR पर बीजेपी-पीडीपी आमने-सामने
उधर, शोपियां में सेना के खिलाफ हुए एफआईआर में सरकार में शामिल पीडीपी और बीजेपी गठबंधन में भी तनातनी देखने को मिली। बीजेपी जहां एफआईआर को वापस लेने के लिए मांग कर रही है, वहीं पीडीपी ने इसे खारिज कर दिया। इस दौरान मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने यह भी कहा कि जांच को तार्किक नतीजे तक पहुंचाया जाएगा।

सेना ने किया था जवानों का बचाव
शोपियां में एफआईआर के मामले में सेना के उच्च अधिकारियों ने भी जवानों का बचाव किया था। उत्तरी कमान के चीफ लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अन्बु ने दो टूक कहा था कि हमारा रुख इस बारे में बिल्कुल साफ है कि अगर उकसावे वाली कार्रवाई होती है, तो आत्मरक्षा के लिए हम जवाब देंगे।’

Leave a Comment